कैंडी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?

कैंडी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How To Star Candy Making Business in Hindi

कैंडी निर्माण परियोजना रिपोर्ट का परिचय, व्यवसाय योजना:

अगर ठीक से योजना बनाई जाए तो कैंडी बनाना एक उच्च लाभ और कम पूंजी वाला स्टार्ट-अप उद्यम है। कैंडी बनाने वाला स्टार्ट-अप एक आसान अवसर है। गुणवत्ता वाली कैंडी की आवश्यकता बढ़ रही है। आप कम पूंजी में भी कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। यह न केवल बच्चों में प्रचलित है बल्कि वयस्क भी उन्हें खाना पसंद करते हैं।

जब आप अपना Candy Banane Ka Business Kaise Shuru Kare इसके बारे में सोचते हैं तो आपके मन में प्रक्रिया, मशीनरी, बाजार और स्थान के बारे में कई प्रश्न होंगे। इस लेख में, हमने कैंडी व्यवसाय के कुछ आवश्यक पहलुओं के बारे में बताया है।

कैंडी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें | How To Star Candy Making Business in Hindi

कैंडी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें - How To Star Candy Making Business in Hindi

Candy Banane Ka Business Kaise Shuru Kare इसके लिए एक गाइड, कैंडी की मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस, मेकिंग बिजनेस प्लान इन इंडिया

कैंडी बनाना कम पूंजी के साथ शुरू किया जा सकता है लेकिन अगर उचित तरीके से योजना बनाई जाए तो अच्छा रिटर्न मिलेगा। कैंडी बनाने का उपक्रम सरल है और इसे बिना किसी परेशानी के लिया जा सकता है। अच्छी कैंडीज की मांग इसलिए है क्योंकि इन्हें न केवल बच्चे खाते हैं बल्कि बड़े भी इन्हें खाना पसंद करते हैं।

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए बिज़नेस प्‍लान (Candy Making Business Plan in Hindi)

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए, आपको निम्नलिखित बिंदुओं पर विचार करके एक बिज़नेस प्‍लान तैयार करने की आवश्यकता है:

  • बाजार की क्षमता
  • आधार और अनुमान
  • कार्यान्वयन अनुलिस्ट
  • आवश्यक अप्रुवल की लिस्ट
  • कच्चे माल की आवश्यकता
  • मशीनरी और उपकरणों की लिस्ट
  • निर्माण प्रक्रिया
  • प्रोजेक्‍ट अर्थशास्त्र
  • प्रोफिटेबिलिटी

कैंडी बनाने का बिज़नेस की बाजार क्षमता (Candy Making Business Market potential)

सबसे पहले, आपको बाजार पर पूरी तरह से शोध करना चाहिए और अपने इलाके या क्षेत्र में सबसे अच्छी और सबसे ज्यादा बिकने वाली कैंडीज को पहचानने की कोशिश करनी चाहिए। एक बार जब आप अपने प्रांत में सबसे अधिक बिकने वाली कैंडी के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं और फिर आप आसानी से योजना बना सकते हैं।

एक समान प्रकार की कैंडी प्राप्त करने की योजना बनाएं जिनकी वर्तमान में उच्च मांग है या एक आइडिया और विविध स्वाद वाली कैंडी के बारे में सोचें।

कैंडी बनाने का बिज़नेस का आधार और अनुमान (Basis and presumptions of Candy Making Business)

कैंडी मैन्युफैक्चरिंग प्रोजेक्ट प्रोफाइल निम्नलिखित आकलन पर निर्भर करता है:

काम के घंटे/शिफ्ट : 8 घंटे।

शिफ्ट/दिन की संख्या:1

कार्य दिवस: 300

लेबर एक्सपेंसेस: राज्य सरकार के न्यूनतम मजदूरी अधिनियम के अनुसार

ब्याज दर: 15% प्रति वर्ष

मशीनरी और उपकरण की लागत: एक विशेष डीलर के आधार पर लिया गया

कच्चे माल का मूल्य: स्थानीय बाजार के अनुसार पैकिंग सामग्री/अन्य दर (थोक दर पर)

भूमि: स्वामित्व

बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन

पूर्ण क्षमता उपयोग के आधार पर ब्रेक-ईवन पॉइंट का अनुमान लगाया जाएगा

पे-बैक का समय 5 – 7 वर्ष है

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए समय (Implementation Time of Candy Making Business)

  1. प्रोजेक्‍ट की तैयारी: 0-1 माह
  2. स्थान चयन, १-२ माह भूमि का अधिग्रहण एवं भूमि विकास
  3. ऋण स्वीकृति: 1-3 महीने
  4. बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन: 3-4 महीने
  5. बिजली आपूर्ति और पानी का कनेक्शन : 4-5 महीने
  6. मशीनरी प्राप्त करना: 5-6 महीने
  7. विद्युतीकरण और स्थापना: 6-7 महीने
  8. स्टाफ और कर्मचारियों की भर्ती : 7-8 महीने
  9. 8-10 महीनों में ट्रायल रन शुरू किया जा सकता है
  10. 10-11 महीने से शुरू हो सकता है कमर्शियल प्रोडक्शन

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आवश्यक अप्रूवल और परमिट की लिस्ट (Permission To Start Candy Making Business)

भारत में कैंडी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस शुरू करने का अगला कदम लाइसेंस, परमिशन और रजिस्ट्रेशन प्राप्त करना है, जिसकी लिस्ट नीचे दी गई हैं –

कैंडी बनाना व्यवसाय एक खाद्य-आधारित व्यवसाय मॉडल है, इसलिए इसे शुरू करने से पहले आपको कुछ लाइसेंसों की आवश्यकता होगी। नीचे दी गई लिस्ट है:

व्यावसायिक इकाई: किसी भी व्यवसाय के लिए पहला रजिस्ट्रेशन संगठन के रूप के बारे में जानकर उसे एक व्यावसायिक इकाई के रूप में पंजीकृत करना है। यह प्रोप्रिएटोरशिप या पार्टनरशिप या लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप या एक व्यक्ति कंपनी के रूप में हो सकता है। यह व्यवसाय को कुछ लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा और इसलिए, रजिस्ट्रार के कार्यालय में व्यवसाय को पंजीकृत करने से पहले सावधानी से चुना जाना चाहिए।

  • FSSAI रजिस्ट्रेशन: जैसा कि कैंडी मेकिंग को खाद्य या खाद्य उत्पादों के प्रसंस्करण के रूप में वर्गीकृत किया जाता है और इस प्रकार परिभाषा के अनुसार FSSAI रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है। भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) खाद्य सुरक्षा के विनियमन और पर्यवेक्षण द्वारा सार्वजनिक स्वास्थ्य की रक्षा और प्रचार के लिए है, इसलिए FSSAI व्यवसाय के लिए एक अनिवार्य रजिस्ट्रेशन/लाइसेंस है। FSSAI रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन है और दस्तावेज़ तैयार होने के बाद इसका पालन करना काफी आसान है।
  • शॉप एक्‍ट या ट्रैड लाइसेंस: उदाहरण के लिए महाराष्ट्र में कैंडी बनाने के व्यवसाय के रूप में, भारत को व्यवसाय चलाने के लिए स्थानीय नगरपालिका प्राधिकरण से दुकान अधिनियम लाइसेंस के लिए आवेदन करने की आवश्यकता है। यह लाइसेंस कर्मचारियों के काम के घंटों, छुट्टियों, वेतन, छुट्टियों आदि के साथ-साथ काम करने की परिस्थितियों का प्रबंधन करने में मदद करता है और व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने में सहायता करता है।
  • उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन: चूंकि कैंडी बनाने को एक छोटे व्यवसाय के रूप में वर्गीकृत किया गया है और इसलिए इसे उद्योग आधार के तहत पंजीकृत होना चाहिए जो MSME के लिए रजिस्ट्रेशन और मान्यता है।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन: कैंडी बनाने सहित प्रत्येक व्यवसाय को किसी न किसी बिंदु पर करों के साथ जुड़ना चाहिए और एक समान कराधान संरचना की निगरानी के लिए, व्यवसाय को एक सामान्य जीएसटी नंबर मिलना चाहिए जो कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स के लिए है।
  • BIS सर्टिफिकेशन: इन सर्टिफिकेशन के अलावा व्यवसाय को BIS सर्टिफिकेशन के साथ-साथ कर देनदारी भी मिलनी चाहिए।
  • राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से अनापत्ति प्रमाण पत्र: कैंडी बनाने से कोई प्रदूषण नहीं होता है, इसलिए किसी मंजूरी की आवश्यकता नहीं होती है, हालांकि, उस इलाके के राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से इसकी जांच करने की सिफारिश की जाती है जहां व्यवसाय स्थापित है।

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आवश्यक कौशल (Skills for Candy Making Business)

हम आपको कैंडी बनाने पर कुछ क्रैश कोर्स करने की सलाह देते हैं। यदि आप कैंडी बनाने की योजना बना रहे हैं तो विशेषज्ञों से उनकी कार्यशाला में प्रशिक्षण प्राप्त करना आवश्यक है। वे आपको बिना किसी परेशानी के आकर्षक कैंडी बनाने के तरीके के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

कैंडी बाजार में चल रही प्रतिस्पर्धा को पूरा करने के लिए एक अनोखी कैंडी का होना जरूरी है। आजकल बाजार में ढेर सारी मिठाइयां देखने को मिलती हैं। उनमें से कुछ बटरी कैंडीज, टैंगी और स्वीट कैंडीज और अन्य हैं।

कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने के लिए आवश्यक क्षेत्र (Area For Candy Making Business)

कैंडी मैन्युफैक्चरिंग बिजनेस स्थापित करने के लिए आपको किसी जगह की पहचान करनी होगी। सबसे पहले, आपको कैंडी बनाने वाली मशीनों की व्यवस्था करनी चाहिए और उन्हें उस स्थान पर स्थापित करना चाहिए और यह भी ध्यान रखना चाहिए कि आपके पास कच्चे माल और अंतिम उत्पाद को स्टोर करने की जगह है। इसके अलावा कच्चे माल को यूनिट तक पहुंचाने और पैक्ड एंड प्रोडक्ट्स को बाजार तक पहुंचाने की सुविधाओं की जांच करें।

कैंडी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री (Materials required for Candy Making Business)

बिजली कनेक्शन होना बहुत जरूरी है। कैंडी व्यवसाय शुरू करते समय, आपको एक कैंडी थर्मामीटर और विभिन्न प्रकार के कैंडी बनाने वाले सांचों को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा, आपको कच्चे माल जैसे विभिन्न स्वाद, चीनी आदि प्राप्त करने के लिए स्थानीय आपूर्तिकर्ताओं से संपर्क करना चाहिए। महत्वपूर्ण विशेषता आपकी कैंडी का लपेटना है। आपको अक्सर योजना बनानी चाहिए कि आप अपनी कैंडी की आकर्षक पैकेजिंग कैसे प्राप्त करें।

कैंडी बनाने के लिए आवश्यक मशीनरी (Machinery required for Candy Making Business)

शुरुआत में कैंडी बनाने का यह व्यवसाय घर से भी छोटे स्तर पर शुरू किया जा सकता है लेकिन व्यावसायिक स्तर पर आपको अधिक पैसा खर्च करना होगा। कैंडी बनाने की कई मशीनें ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से खरीदी जा सकती हैं। हमारा सुझाव है कि आप बुद्धिमानी से मशीनों का चयन करें और गारंटी अवधि, स्थापना या डेमो प्रावधान और सेवा विकल्पों की भी जाँच करें।

कैंडी बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक निवेश (Investment required for Candy Making Business)

आपका शुरुआती खर्च लगभग रु. 3 लाख से रु. 5 लाख (आटोमेटिक या सेमी- आटोमेटिक, आदि कैंडी बनाने की मशीन प्राप्त करने की लागत शामिल है)। बेशक, यह एडजेस्टेबल है; आप सस्ते उपकरण खरीदने में सक्षम हो सकते हैं, जबकि कीमतें इस बात पर भी निर्भर करती हैं कि आपके पास रोस्‍ट का स्थान या क्षेत्र है या नहीं।

दुर्भाग्य से, इस प्रकार के स्टार्टअप (शुरुआत में) के लिए निवेश को लुभाना कठिन हो सकता है, इसलिए आप अनिवार्य रूप से क्रेडिट बाजारों की तलाश करेंगे, अधिमानतः एक प्रकार का व्यावसायिक ऋण।

कैंडी बनाने के व्यवसाय में लाभ (Candy Making Business Profit)

कैंडी बनाने के व्यवसाय से होने वाला लाभ कई पहलुओं पर आधारित होता है जैसे-

  • उत्पादन क्षमता
  • कैंडीज की गुणवत्ता और आवश्यकता
  • बाजार नीति
  • कैंडीज से मार्जिन

शुरुआती चरणों में 1 लाख से 2 लाख रुपये का लाभ कमा सकते हैं। बाद में आपके द्वारा उत्पादित स्वाद और गुणवत्ता के आधार पर आपका मुनाफा बढ़ सकता है। सबसे पहले आप अपने ब्रांड को स्वाद के साथ बाजार में स्थापित करने का लक्ष्य रखते हैं।

कैंडी की निर्माण प्रक्रिया (Candy Making Process)

विभिन्न प्रकार की कैंडी निर्माण मशीनरी के साथ-साथ कैंडी निर्माण के लिए कई रोमांचक प्रौद्योगिकियां उपलब्ध हैं। आप पूरी मशीनरी प्राप्त कर सकते हैं जो विभिन्न प्रसंस्करण लाइनों के साथ-साथ कैंडी निर्माण प्रक्रिया में शामिल प्रत्येक चरण के लिए अलग-अलग मशीनों के साथ एकीकृत है। निर्माण में शामिल मशीनरी के कुछ विशेष उदाहरण हैं:

  • कैंडी मिक्सिंग और कुकिंग
  • कैंडी मोल्डिंग
  • कैंडी एयरिंग
  • कैंडी स्टैम्पिंग
  • कैंडी कूलिंग
  • कैंडी कोटिंग
  • कैंडी ड्राइंग
  • आटोमेटिक डेकोरेटर्स
  • इंटिग्रेटेड कैंडी मेकिंग सोल्‍यूशन
  • कैंडी रैपिंग और पैकेजिंग
  • कैंडी क्‍वालिटी कंट्रोल उपकरण

कैंडी निर्माण मशीनरी को सरकार द्वारा एप्रूव्ड और अधिकृत होना चाहिए। कई आधुनिक कैंडी निर्माण मशीनों में देखी जाने वाली तकनीक अत्यधिक परिष्कृत है। मशीनें मुख्य रूप से यूजर्स के अनुकूल टच स्क्रीन ऑपरेशन वाले कंप्यूटरों द्वारा आटोमेटेड और रेग्‍यूलेटेड होती हैं। अत्याधुनिक सेंसर तंत्र, इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रोग्राम योग्य नियामकों के साथ विनिर्माण उपकरण कला की वर्तमान स्थिति के रूप में शामिल है।

कैंडी बनाने के लिए बिज़नेस प्‍लान (Candy Making Business Business Plan in Hindi)

कैंडी निर्माण प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट / भारत में कैंडी विनिर्माण व्यवसाय का अर्थशास्त्र

फिक्स्ड कैपिटल

i) भूमि और भवन

भूमि का स्वामित्व

भवन 2000 वर्ग फुट @ 2000 रुपये प्रति वर्ग फुट: रुपये 4,00,000

ओवर हेड टैंक : रु. 40,000

कुल: रु. 4,40,000

ii) मशीनरी और उपकरण: रु. 4,95,000

iii) पूर्व ऑपरेशन खर्चे: रु. 25,000

कुल फिक्स्ड कैपिटल (i+ii+iii): रु. 9,60,000

वर्किंग कैपिटल

i) कच्चा माल : रु. 7,99,000

ii) वेतन और मजदूरी

मैनेजर सह फूड टेक्‍नोलॉजीस्‍ट 1: रु. २०,०००

सेल्स मैन: रु. 10,000

कुशल श्रमिक -2: रु. 30,000

हेल्पर्स 10: रु. 50,000

कुल: रु. 1,10,000

iii) यूटिलिटीज: रु. 11,300

iv) अन्य आकस्मिक खर्चे: रु. १३,७००

कुल वर्किंग कैपिटल (i+ii+iii+iv): रुपये 9,34,000

कुल कैपिटल इन्वेस्टमेंट

a) फिक्स्ड कैपिटल: रु. 9,60,000

b) वर्किंग कैपिटल: रु. 9,34,000

कुल: रु. 18,94,000

निधि का स्रोत

टर्म लोन: रु. 7,20,000

वर्किंग कैपिटल लोन: रु. 7,00,500

खुद का फंड: रु. 4,73,500

कुल: रु. 18,94,000

कुल आवश्यक ऋण राशि: रु. 14,20,500

प्रॉडक्‍शन की किमत

कुल आवर्ती व्यय: रु. 9,34,000

बिल्डिंग और टैंक पर डेप्रिसिएशन @ 5%: रु. 1,833

मशीनरी और उपकरणों पर डेप्रिसिएशन @ 10%: रु. २,९१७

हैंड टूल्‍स पर डेप्रिसिएशन @ 15%): रु. 438

कार्यालय उपकरणों पर डेप्रिसिएशन @ 20%: रु. 1,000

ऋण पर ब्याज (15%): रु. १७७५६

कुल उत्पादन लागत: रु. 9,57,944

कहने के लिए: रु. 9,58,000

कैंडी बनाने के बिज़नेस में लाभ (Profit in Candy Making Business)

निर्मित कैंडीज का कुल बिक्री मूल्य: रु. १५,४९,०००

लाभ = रु. १५,४९,००० – रु. ९,५८,००० = रु. ५,९१,०००।

अपनी स्वादिष्ट कैंडीज का प्रचार कैसे करें (How to Promote Candies)

किसी भी स्टार्ट-अप उद्यम के लिए, उसका उचित समर्थन करना बहुत महत्वपूर्ण है। यदि आपकी वित्तीय स्थिति कम है तो आप स्थानीय आपूर्तिकर्ता से संपर्क कर सकते हैं और उन्हें अपनी कैंडी आवंटित करने के लिए कह सकते हैं।

आप फेसबुक और इंस्टाग्राम या किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपनी कैंडी को ऑनलाइन प्रोत्साहित कर सकते हैं जो वर्तमान में बहुत प्रसिद्ध हैं। साथ ही, यदि आपके पास पर्याप्त पूंजी है तो आप विज्ञापनों का उपयोग करके टेलीविजन और इंटरनेट पर उन्हें प्रोत्साहित कर सकते हैं।

कैंडी बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए आवश्यक संसाधन (Resources to start Candy Making Business)

प्रमुख तकनीकी उपकरणों के अलावा, आप पैकेजिंग आपूर्ति, लेबल और पॉइंट-ऑफ-सेल (पीओएस) डिवाइस जैसी सामग्री भी खरीदेंगे। कैंडी बनाने के उद्देश्यों के लिए आपको अभी भी बहुत सारे विशेषज्ञ संसाधनों की आवश्यकता होगी।

कैंडी बनाने के व्यवसाय में ग्राहकों को कैसे आकर्षित करें

अपने शुरुआती चरणों के दौरान, आपको अपने लक्षित बाजार की पहचान करनी चाहिए। क्या आप मुख्य रूप से चलते-फिरते कैंडी व्यसन पर ध्यान केंद्रित करेंगे? या, क्या आप किराने की दुकानों में ग्राहकों से थोक तरीके से संपर्क करेंगे, सुपरमार्केट और कारीगर बुटीक का विकल्प चुनेंगे? यह, निश्चित रूप से, आप पर निर्भर है, हालांकि कुछ विशेषज्ञ थोक विक्रेताओं को आकर्षित करने की प्रशंसा करते हैं क्योंकि वे एक स्थिर आय प्रदान कर सकते हैं।

अंततः, आपकी मार्केटिंग योजना इस लक्ष्य जनसांख्यिकीय को वर्गीकृत करने पर निर्भर करती है। जब आपके पास एक उचित ग्राहक प्रोफ़ाइल हो, तो आप अपने प्रयासों को उन प्लेटफार्मों पर केंद्रित कर सकते हैं जो वे अक्सर करते हैं। इसे हासिल करने के लिए आप कई ऑनलाइन और ऑफलाइन नीतियां अपना सकते हैं, हालांकि स्थानीय एसईओ और सोशल मीडिया मुख्य रूप से महत्वपूर्ण हैं।

इसके अलावा, अन्य व्हाइट-हैट विचार हैं जिनका उपयोग आप ग्राहकों को अपने ब्रांड की ओर आकर्षित करने के लिए कर सकते हैं –

  • अपने मार्केटिंग आइटम में ताजगी, सुगंध और स्वाद पर काम करें।
  • किसी विशेष क्षेत्र से कैंडी के विशेष स्वाद के विशेषज्ञ हो जाए।
  • अपने उत्पाद का विज्ञापन करने के लिए उपयुक्त और प्रासंगिक इन्फ्लुएंसर का उपयोग करें।
  • विशेषज्ञों के साथ संबंध स्थापित करना और विकसित करना और उनकी कहानियों का प्रसार करना।
  • आपके उद्योग से संबंधित आर्थिक सहायता पहल

अपनी कैंडीज को बढ़ावा देने के लिए मार्केटिंग रणनीतियाँ

आप स्थानीय बाजारों में अपनी कैंडी बेचने की कोशिश कर सकते हैं या आप ऑनलाइन बेच सकते हैं। आप कुछ लोकप्रिय B2B वेबसाइटों और B2C वेबसाइटों में भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं और अपनी कैंडी का विज्ञापन करने के लिए ऑनलाइन बाजारों का उपयोग कर सकते हैं। आप अपने उत्पादों को छोटे स्टोर, सुपरमार्केट, शॉपिंग मॉल, स्कूल कैंटीन आदि में भी बेच सकते हैं। सोशल मीडिया के माध्यम से अपने उत्पाद के बारे में प्रचार करना बहुत आवश्यक है ताकि बड़ी संख्या में ग्राहक हों इस तरह से आप अपने व्यवसाय को बढ़ा सकते हैं और बढ़ावा दे सकते हैं।

कैंडी के बिज़नेस का निष्कर्ष

यदि आप एक लाभदायक व्यवसाय उद्यम शुरू करना चाहते हैं, तो कैंडी बनाने का बिज़नेस शुरू करने का एक शानदार अवसर है। हां, निश्चित रूप से बहुत बड़े प्रतियोगी हो सकते हैं लेकिन लोग हमेशा नए स्वाद और स्वस्थ वस्तुओं का समर्थन करेंगे। तो, ग्राहकों को आकर्षित करने वाली विविध, स्वस्थ और स्वादिष्ट कैंडी देने के लिए एक विचार के बारे में सोचना शुरू करें। हमेशा याद रखें कि गुणवत्ता वाला उत्पाद अधिक ग्राहकों को आकर्षित करेगा। याद रखें कि शुरुआती चरणों में, आपके ब्रांड को पंजीकृत होने में समय लगता है, इसलिए कुछ मार्केटिंग रणनीतियों की योजना बनाएं और अपने उत्पाद को बढ़ावा देने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग करें। यदि एक बार यह पंजीकृत हो जाता है तो आपका उत्पाद प्रचार में जाएगा।

कैंडी बनाने के व्यवसाय पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न: क्या मैं घर से कैंडी बना और बेच सकता हूँ?

उत्तर: अपने घर से घर की बनी मिठाइयाँ बेचने का लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आवश्यक हो सकता है कि आप एक व्यावसायिक-श्रेणी की रसोई बनाएं या स्थापित करें और काउंटी स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य निरीक्षण पास करें। घर-आधारित बेकरी के बारे में अलग-अलग राज्यों के अपने कानून हैं।

प्रश्न: कैंडी बनाने के व्यवसाय में लाभ मार्जिन क्या है?

उत्तर: कैंडी मेकिंग बिजनेस में आप अच्छा प्रॉफिट मार्जिन कमा सकते हैं। शुरुआत में यह 10-15% से शुरू होता है बाद में यह बढ़कर 30-35% हो जाता है।

प्रश्न: कैंडी बनाने का व्यवसाय शुरू करने के लिए मुझे किन कौशलों की आवश्यकता है?

उत्तर: आइए इन कौशलों को अधिक विस्तार से देखें ताकि आप यह पहचान सकें कि आपको अपने दिन-प्रतिदिन के व्यावसायिक कार्यों में सफल होने के लिए क्या चाहिए:
सेल्फ मोटिवेशन स्किल्स
ग्राहक सेवा कौशल
व्यापार प्रेमी कौशल

प्रश्न: किस प्रकार के ग्राहक आपकी कैंडी मेकिंग खरीदेंगे?

उत्तर: पहले यह स्थापित करना महत्वपूर्ण है कि आप किसे बेचेंगे, चाहे वह व्यवसायों या उपभोक्ताओं को हो। आमतौर पर, इस उद्योग में, उत्पाद B2C बाजारों (व्यवसाय से उपभोक्ता) को बेचे जाते हैं।

अन्य बिज़नेस आइडियाज जो आपको पसंद आएंगे:

अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

भारत में मोमबत्ती बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

पापड़ बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?

Previous articleपेंसिल बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?
Next articleकपूर बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?
किरण पाटील मुंबई महाराष्ट्र के रहने वाले हैं और आईटी और जीके से संबंधित कई ब्‍लॉगर्स के मालिक हैं। उन्होंने अपना ग्रैज्‍युएशन कंप्‍युटर साइंस में पूरा किया हैं। लेकिन जबकि ब्‍लॉगिंग में वे पिछले पाँच साल से अधिक समय से जुड़े हैं, वे इसके साथ अन्य कई सोर्स से पैसे कमा रहे हैं। और इसी वजह से उन्होंने पैसे कैसे कमाएं इस विषय पर महारत हासिल की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.