Homeबिज़नेसभारत में बिंदी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?

भारत में बिंदी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?

How To Start Bindi Making Business in Hindi | बिंदी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें

बिंदी हमेशा हर भारतीय महिला की मेकअप सूची में एक महत्वपूर्ण आइटम में होती है और ज्यादातर युवा लड़कियां इस आइटम का उपयोग करती हैं, इसलिए बिंदी बनाने का विचार आपके व्यवसाय को शुरू करने का एक अच्छा विकल्प है।

आप छोटे निवेश के साथ कई तरह की बिंदी बना सकते हैं और उनकी मांग और अपने उत्पाद की दिखावट और गुणवत्ता के अनुसार उनकी कीमतों को टैग कर सकते हैं। अब, अच्छा पैसा कमाने के लिए Bindi Banane Ka Business Kaise Shuru Kare इसके विवरण में आते हैं।

How To Start Bindi Making Business in Hindi | बिंदी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें

How To Start Bindi Making Business in Hindi - बिंदी बनाने का बिज़नेस कैसे शुरू करें
Image Credit: https://commons.wikimedia.org/wiki/File:Bindi.jpg

बिंदी बनाने के व्यवसाय से पैसे कैसे कमाए इस पर एक गाइड

लोग ज्यादातर बिंदी की आकर्षक विशेषताओं और डिजाइनों को देखते हैं और खरीदते समय बिंदी की लागत के बारे में चिंता नहीं करते हैं जो कि महत्वपूर्ण पहलू है जो व्यापारियों के लिए कीमत तय करने में मदद करता है। आप घर से कम जगह के साथ बिंदी बनाने का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और यह पहलू कुछ निवेश को बचाने में भी मदद करता है जिसे आप व्यवसाय के लिए किराये की जगहों के लिए इस्तेमाल कर सकते थे। इस व्यवसाय को शुरू करते समय आपको कुछ बिंदुओं के बारे में पता होना चाहिए जिनका उल्लेख इस ब्लॉग में नीचे किया गया है।

बिंदी बनाने के बिज़नेस के लिए आवश्यक लाइसेंस (Licenses Required To Start Bindi Making Business )

  1. फर्म का रजिस्ट्रेशन: यह बिंदी बनाने वाला व्यवसाय एक प्रोपराइटरशिप फर्म या पार्टनरशिप कंपनी की तरह भी है। साझेदारी संचालन के लिए, आपको LLP – लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप या प्राइवेट के रूप में कंपनी ऑफ रजिस्ट्रार (ROC) के साथ लिमिटेड कंपनी रजिस्ट्रेशन करने का विकल्प चुनना होगा।
  2. GST रजिस्ट्रेशन: GST नियम के बाद अनिवार्य जीएसटी नंबर के लिए आवेदन करने की सिफारिश की गई है।
  3. ट्रैड लाइसेंस: आपके व्यवसाय के लिए व्यापार लाइसेंस स्थानीय अधिकारियों से प्राप्त किया जा सकता है।
  4. प्रदूषण प्रमाण पत्र: अपनी फर्म शुरू करने के बाद किसी भी समस्या से बचने के लिए संबंधित विभाग से प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  5. ट्रेडमार्क: कंपनी के ब्रांड को सुरक्षित करने के लिए ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन कराने का सुझाव दिया गया है।

सुनिश्चित करें कि आप SSI युनिट के लिए रजिस्ट्रेशन करते हैं और फिर बिक्री कर के उद्देश्य से एक ब्रांड बनाने वाली अपनी बिंदी के नाम से अपने व्यवसाय के लिए एक बैंक अकाउंट खोलते हैं।

बिंदी बनाने के बिज़नेस के लिए आवश्यक क्षेत्र (Area Required for Bindi Making Business)

जैसा कि यह पहले से ही ज्ञात तथ्य है कि बिंदी बनाना एक घर-आधारित व्यवसाय है, आप इसे घर से शुरू कर सकते हैं जो आपको कुछ पैसे बचाने की अनुमति देता है जिसका उपयोग व्यवसाय के लिए किराये की जगहों के बजाय अन्य विविध लागतों के लिए किया जा सकता है।

अनुमान है कि बिंदी बनाने के व्यवसाय के लिए लगभग 500 वर्ग फुट क्षेत्र की आवश्यकता होती है। इसलिए किराए के क्षेत्र का उपयोग करने के बजाय अपने व्यवसाय को अपने स्थान पर रखना बेहतर है। यह भी उपयोगी होगा क्योंकि परिवार के सदस्य कुछ प्रक्रियाओं में आपकी सहायता करेंगे और इसके लिए आपको बाहर से मैनपावर की आवश्यकता नहीं होगी। यह एक अतिरिक्त लाभ है क्योंकि परिवार के सदस्य भरोसेमंद होंगे और धन परिवार के पास ही होगा।

घर से व्यवसाय करने के लिए बिंदी शुरू करने के लिए सरकार की कुछ सीमाएं हैं लेकिन यह ध्यान देने योग्य नहीं है। इसके अलावा, घर-आधारित व्यवसाय का मुख्य लाभ यह है कि आप अपनी सुविधानुसार अपना समय परिवार और व्यवसाय का प्रबंधन कर सकते हैं।

बिंदी बनाने का रॉ मटेरियल (Raw Material Required To Make Bindi)

बिंदी बनाने के व्यवसाय के लिए मूल सामग्री मखमली कपड़ा और चिपकने वाला मटेरियल है जो बिंदी के पीछे मौजूद होती है। बिंदी बनाने के लिए आवश्यक अन्य कच्चे माल कीमती स्‍टोन, चिपकने वाला पदार्थ, मोती, गोंद और अन्य हैं।

चिपकने वाला एक प्रकार का लेप होता है जो बिंदी के दूसरी तरफ मौजूद होता है। आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला चिपकने वाला प्रमुख रूप से डेक्सट्रिन होता है।

बिंदी पूरी होने के बाद आपके पास बिंदी लगाने के लिए एक कागज़ की शीट होनी चाहिए, बाद में इस पूरी चीज़ को पैकेजिंग सामग्री का उपयोग करके पैक किया जाना चाहिए।

यहां बिंदी बनाने वाले कच्चे माल की सूची नीचे दी गई है

  • मखमली कपड़ा
  • चिपकने वाला डेक्सट्रिन
  • किमती स्‍टोन
  • मनका

आप उत्पादों के लिए कच्चे माल की खरीद में उपयोग की जाने वाली पूंजी के अनुसार बिंदी की लागत निर्धारित कर सकते हैं।

बिंदी बनाने की मशीन (Bindi Making Machine)

बिंदी बनाने के व्यवसाय के लिए, आप हाथ के औजारों से भी शुरुआत कर सकते हैं, लेकिन बेहतर उत्पादन के लिए, आपको एक बिंदी प्रिंटिंग मशीन, बिंदी काटने की मशीन और विभिन्न रंगों को खरीदना होगा। डिजाइनर बिंदी और सामान्य बिंदी भी बनाने का सुझाव दिया गया है।

मूल रूप से, बिंदी उत्पादन को दो वर्गों में वर्गीकृत किया गया है –

  • प्रिंटिंग यूनिट
  • पंचिंग यूनिट

बिंदी बनाने के व्यवसाय के लिए विभिन्न प्रकार की मशीनरी की आवश्यकता होती है, विभिन्न प्रकार की मशीनें जो कीमत, संचालन मोड और ऑपरेशन आउटपुट के आधार पर बाजार में उपलब्ध हैं।

आपको एक ऐसी मशीन चुननी होगी जो आपके उत्पादन के लिए उपयुक्त हो।

बिंदी बनाने वाली मशीनों की शॉर्टलिस्ट नीचे दी गई है-

  • एडहेसिव कोटिंग मशीन
  • बिंदी कटिंग मशीन
  • बिंदी प्रिंटिंग मशीन
  • सुखाने की मशीन
  • हाथ के उपकरण
  • पंचिंग मशीन
  • पैकेजिंग मशीन
  • विद्युत मोटर

बिंदी कैसे बनती है? बिंदी बनाने की प्रक्रिया (Bindi Making Process in Hindi)

बिंदी बनाने की प्रक्रिया के पांच प्रमुख चरण नीचे दिए गए हैं;

1. बिंदी कटिंग

अच्छी क्वालिटी के वेलवेट पेपर को पंचिंग मशीन में फीड मटेरियल साइज के अनुसार कटिंग मशीन की मदद से ठीक से काटा जाता है।

2. बिंदी पंचिंग

पंचिंग मशीन का उपयोग करके पंचिंग किया जाता है जहां मखमली कागज को विभिन्न आकारों में छिद्रित किया जाता है।

3. बिंदी पर छपाई

आजकल फैंसी बिंदी के लिए स्‍टोन या उस पर विभिन्न प्रिंटेड डिजाइनों वाली बिंदी की फैशन है। इस प्रकार के डिज़ाइन को प्रिंटिंग मशीन का उपयोग करके बिंदी पर प्रिंट किया जाता है।

4. चिपकने वाला पेस्ट

चिपकने वाली सामग्री को बिंदी के दूसरी तरफ जोड़ा जाता है। उसके बाद चिपकने वाले को सुखाने के उद्देश्य से गर्म हवा कक्ष के माध्यम से भेजा जाता है।

5. बिंदी की पैकेजिंग

बिंदी पूरी होने के बाद इसे ग्राहक की आवश्यकता के अनुसार पैक किया जाएगा।

बिंदी बनाने का व्यवसाय शुरू करने की लागत (Cost to Start a Bindi Making Business)

बिंदी मेकिंग मशीन प्राइस – बिंदी बनाने की मशीन की कीमत = 60,000 रुपए से 1,20,000 रुपए

कच्चे माल की लागत = 20,000 रुपए

पैकेजिंग लागत = 10,000 रुपए

विविध लागत = 10,000 रुपए

बिंदी बनाने का व्यवसाय शुरू करने में लगने वाली कुल लागत = 1,20,000 रुपए

बिंदी बेचने के लिए मार्केटिंग रणनीति (Marketing Strategy To Sell Bindi)

1. बिंदी के लिए स्थानीय बाजार (रिटेल मार्केट)

स्थानीय स्टोर और रिटेलर्स के साथ नेटवर्क बनाएं जो आपके उत्पाद को पेश कर सकते हैं और अप्रत्यक्ष रूप से आपकी बिंदी बेचने में सहायता कर सकते हैं। इस प्रकार एक रिटेलर भी आपको अपने उत्पादों को ग्राहकों तक फैलाने में मदद करता है।

2. बिंदी होलसेल बाजार

आप अपनी बिंदी अपने शहर के थोक बाजार में बेच सकते हैं।

3. बिंदी ऑनलाइन बाजार

B2B वेबसाइटें: शुरुआती चरणों में थोक ऑर्डर के लिए या तो थोक दुकानों से संपर्क करना या B2B वेबसाइटों जैसे अलीबाबा, इंडियामार्ट, ट्रेडइंडिया, एक्सपोर्टर्सइंडिया, आदि से संपर्क करना महत्वपूर्ण है।

B2C वेबसाइटें: ये ऑनलाइन वेबसाइट हैं जो Amazon, Flipkart, Snapdeal, आदि जैसी ई-कॉमर्स साइटों के साथ रजिस्ट्रेशन करके एक ग्राहक आधार स्थापित कर सकती हैं, जहां ग्राहक इन वेबसाइटों के माध्यम से आपके उत्पादों के लिए आपसे संपर्क करेंगे।

बिंदी बनाने वाले व्यवसाय की ब्रांडिंग और विशिष्टता

बिंदी बनाने का व्यवसाय विज्ञापन और उत्पाद प्रचार की मांग करता है, आपके पास उत्पाद बिक्री कौशल होना चाहिए या आप अपने उत्पाद को बेचने के लिए रिटेल दुकान मालिकों जैसे वितरण नेटवर्क से संपर्क कर सकते हैं। आपके व्यवसाय को घर से प्रचारित करने के कई विकल्प हैं, और प्रमुख रूप से ऑनलाइन बिक्री वर्तमान समय में बेचने का सही विकल्प है क्योंकि कई ग्राहक अपनी आवश्यकताओं के लिए ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं।

आप एक साधारण यूजर-फ्रैंडली वेबसाइट के साथ एक ऑनलाइन दुकान भी शुरू कर सकते हैं जहां से ग्राहक ऑनलाइन ऑर्डर बुक कर सकते हैं। आप अपने उत्पाद को बेचने के लिए या कम से कम ग्राहकों को अपने उत्पाद को पेश करने के लिए खुदरा विक्रेता के दोस्तों के माध्यम से अपने उत्पाद का प्रचार भी कर सकते हैं।

भारत में बिंदी बनाने के व्यवसाय का निष्कर्ष

एक संपूर्ण बिंदी व्यवसाय योजना के साथ, आप बिंदी बनाने के व्यवसाय से आसानी से पैसा कमा सकते हैं।

बिंदी बनाने के बिज़नेस पर अक्‍सर पूछे जाने वाले सवाल

घर आधारित बिंदी बनाने के बिज़नेस के लिए आवश्यक लायसेंस

घर पर बिंदी बनाने के लिए आपको स्‍थानिय निकाय से ट्रेड लाइसेंस की आवश्यकता होगी।

बिंदी किससे बनी होती है?

पहले के दिनों में बिंदी सिर्फ लाल रंग की / प्लास्टिक की होती थी जिसके पीछे थोड़ा सा गोंद होता है। आजकल मखमली कपड़े से बिंदी बनाई जाती हैं, जिसे अन्य आवश्यक कच्चे माल जैसे विभिन्न स्‍टोन, मोतियों के सजाया जाता हैं।

अन्य बिज़नेस आइडियाज जो आपको पसंद आएंगे:

लेडीज के लिए घर बैठे बिजनेस कौन से हैं?

अधिक जाने

समय देने के लिए धन्यवाद और आपका दिन शुभ हो!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.